Skip to content

5 फरवरी को अखिल भारतीय कार्यक्रम के लिए अपील APPEAL FOR ALL INDIA PROGRAMME ON 5TH FEBRUARY

February 3, 2013

साथी,

जैसा की आप सब जानते हैं, हम मारुती सुजुकी इंडिया लि. के मानेसर प्लांट के मजदूर पिछले डेढ़ साल से अपने अधिकारों के लिए अथक संघर्ष में जुटे हुए हैं| हमने यूनियन बनाने के अधिकार के लिए तीन बार हड़ताल किए और आखिरकार एक लम्बे संघर्ष के बाद हमारे यूनियन का पंजीकरण हुआ| परन्तु प्रमंधन ने 18 जुलाई के हादसे को हम पर भारी दमन करने का बहाना बनाया और हममें से 546 स्थाई मजदूरों और 1800 ठेका मजदूरों को काम से निकाल दिया, 145 मजदूरों को जेल में डाल दिया और अन्य 66 मजदूरों पर झूठे मुक़दमे लगा दिए और तबसे  वह लगातार पुलीस द्वारा परेशान किए जा रहे हैं| इस संदर्भ में गुडगाँव के श्रम न्यायालय व सेशन न्यायालय और चंडीगढ़ उच्च न्यायालय में कानूनी कार्रवाई चल रही है| आज छः महीनों से ज़्यादा होने को आए परन्तु हमारे एक भी साथी को ज़मानत तक नहीं मिली है|

हमारे संघर्ष से यह साफ हो गया है कि हरयाणा सरकार और पुलिस प्रमुख रूप से मारुती प्रबंधन के वफादार हैं| फिर भी हमने सभी चुनौतीयों का सामना करते हुए अपने संघर्ष को जारी रखा है| हमारे आन्दोलन ने जुलूस, प्रदर्शन, दिल्ली -एन.सी.आर. ऑटो-मजदूर सम्मेलन, सामूहिक भूख-हड़ताल जैसे कई तरीके आज़माए और 21 जनवरी से पुरे हरयाणा प्रदेश के स्तर पर साईकिल से “न्याय अधिकार रैली” निकाली जो प्रदेश के चार कोनों से शुरू हो कर 27 जनवरी को रोहतक में एक धरना प्रदर्शन में सम्पन्न हुई| अपने वाजिब अधिकारों को हासिल करने की हमारी इन सारी कोशिशों का जवाब सरकार ने और भी बर्बर दमन से दिया है|

24 जनवरी को मारुती सुजुकी वर्कर्स यूनियन के सभी साथियों के गिरफ्तार हो जाने पर हमारे संघर्ष का नेतृत्व करने के लिए बनाई गई MSWU प्रोविजनल कमेटी के साथी ईमान खान को सिविल लाईन्स , गुडगाँव में चल रहे एक प्रेस सम्मेलन से गिरफ्तार कर लिया गया| पुलिस और आसूचना केंद्र (IB) के लोग पत्रकार के भेस में आकर उन्हें अगवाह कर ले गए| उनके नाम कोई मुकदमा न दर्ज होने के बावजूद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया| पुलिस गिरफ्तार मजदूरों से ज़बरदस्ती कोरे कागज़ पर हस्ताक्षर करा कर अपने मन मुताबिक बेकसूर मजदूरों पर आरोप लगाती जा रही है| साथी ईमान पर भी अन्य गिरफ्तार मजदूरों की तरह धरा 302, 307 और 120(b) के तहत बेहद संगीन मुकदमे दर्ज किए गए हैं| साथ ही सभी सक्रीय मजदूरों और उनके परिवारों पर निरंतर प्रशासनिक दमन जारी है, जिसके इस्तेमाल से प्रशासन हमारा आन्दोलन तोड़ने पर अमादा है|

संघर्ष के इस पड़ाव पर हम देश के सभी ट्रेड यूनियनों, जनवादी और प्रगतिशील संगठनों से अपील करते हैं कि हमारे समर्थन में पूरे अखिल-भारतीय स्तर पर मंगलवार 5 फरवरी, 2013 को विरोध प्रदर्शन और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन करें| उसी दिन हरयाणा के मुख्य मंत्री को ज्ञापन भी भेजे जाएँगे|

इस निर्णायक क्षण पर हमें देश भर के ट्रेड यूनियनों और प्रगतिशील संगठनों के समर्थन की बेहद ज़रुरत है| हम न केवल आशा करते हैं, बल्कि हमें पूरा विश्वास है कि हमें एक बार फिर से आपका पूरा समर्थन मिलेगा और कंपनी-प्रशासन के इस नापाक गठजोड़ के खिलाफ हमारी न्याय की मांग सत्ताधारियों के बहरे कानों तक पहुंचेगी|

संघर्षशील अभिवादन

प्रोविजनल वर्किंग कमेटी

मारुति सुजुकी वर्कर्स यूनियन

 

5 फरवरी, 2013 को ज्ञापन भेजने के लिए श्री. भूपिंदर सिंह हुड्डा  का पता, फ़ोन नंबर इत्यादि:

श्री. भूपिंदर सिंह हुड्डा

मुख्य मंत्री, हरयाणा

दप्तर: कमरा नं. ४५, ४थी मंजिल, सिविल सेक्टर, चंडीगढ़, हरयाणा

फोन नं. दफतर: 0172-2749396/2749409, निवास : 2749394/2749395,
फैक्स: 2740596; EPBAX एक्स: 2401, 2402

निवास: कोठी नं. 1, सेक्टर 3, चंडीगढ़

 

Comrades,

As you already know, we the workers in the Manesar plant of Maruti Suzuki India Ltd have been waging a sustained struggle for our rights for the last one and a half years. We had three phases of strikes in 2011 demanding our right to unionize and finally got our union registered after a prolonged struggle. However, the management came down strongly on us on the pretext of the incident of 18th July 2012 when 546 regular workers and 1800 contract workers were terminated, 145 workers were put in jail and false charges pressed against 66 others who have since then been constantly hounded and harassed by the police. Legal cases related to both labour and criminal matters are going on in the Gurgaon labour and session court and in Chandigarh high court. The workers have been in jail for more than six months now and yet not one has been given bail till now.

It has become clear through our struggle that the Haryana government and police are acting as lackeys of the Maruti management. Yet we continue fighting against all odds. Our struggle has taken various forms like rallies, demonstration, Delhi-NCR auto workers’ convention, mass hunger strike with the most recent being a ‘justice rally’ on cycles that we took out across Haryana from four routes all of which culminated in a demonstration in Rohtak on 27th January 2013. The state has only responded to our just demands with intensified repression.

On 24th January, Com. Imaan khan, leading member of Provisional Working Committee, MSWU that that has been leading the struggle since the whole union body was arrested, was picked up by the police while we were addressing a Press Conference in Civil Lines, Gurgaon. The Police and intelligence officials came posing as press people and forcefully abducted him. He’s now been thrown into jail despite not having had any case against his name. The Police have forcibly taken signatures of jailed workers on blank pages and are adding names of workers according to their choice. Com. Imaan has been also been charged with cases of 302, 307, 120(b) like the other workers in jail. At the same time all active workers and our families are continuously being subjected to police repression and harassment in order to crush down our struggle.

At this stage of the struggle, we appeal to all trade unions, democratic and progressive organizations to observe an all-India day of solidarity actions and demonstrations in our support on the 5th of February 2013, Tuesday. A memorandum will also be sent addressed to the Chief Minister of Haryana on the same day.

In this critical situation we need support from other trade unions progressive organizations across the country. We not only hope but trust that we will get your full solidarity once again. Against the nexus of company-management and state power, our demands for justice shall reach the deaf ears of those in power.

With struggling regards,
Provisional working Committee
Maruti Suzuki Workers Union

Address/Ph. No./Fax No. of Sh. Bhupinder Singh Hooda for sending the memorandum on 5th February 2013:

Sh. Bhupinder Singh Hooda
Chief Minister, Haryana
Office: Room No. 45, 4th floor, Civil Sectt., Chandigarh, Haryana.
Ph No. 0172-2749396/2749409 (O); 2749394/2749395 (R)
Fax: 2740596; EPBAX Ext. 2401, 2402
Residence: Kothi No. 1, Sector 3, Chandigarh

No comments yet

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: